सऊदी हुकूमत का ऐसा एलान, इन सब को अब निकल के ही दम लेगा नया साउदी अरब

सौदिएज़ेशन के साथ कोई समझोता  नहीं

निचे जो बातें कही गई उनसे तो यही लगता है की सऊदी अरब ने ठानली है की वो अब अजनबियो को यहाँ नहीं रहने देगा . जानिए क्या क्या कहा है

वजारत इ मेहनत और बह्बूद आबादी के तर्जमानी खालिद अबा खेल ने कहा है की मुल्क मैं सौदिज़ेशन के मुआमले मैं किसी तरह की कोई नरमी नहीं बरती जाएगी . 18 मार्च से रेंट पर कार देने वाली कंपनियो मैं तफ्तीश का आगाज़ करदिया गया  . अरबी टीवी के चैनल व्यू देते हुए अबा खेल  ने कहा की वजारत इ मेहनत समाजी सऊदी अरब मैं सौडियो को ज्यादा ज्यादा काम पर लगाने मैं बहुत ज्यादा संजीदा है .

अगले साल मुहर्रम 1440 हिजरी मुहर्रम से 12 और कामो से अजनबियो को निकालने का काम शुरू करदिया जायेगा . अगले बरस  बड़े और बच्चो के  रेडीमेड कपडे की दुकाने . मोटर साइकिल और गाडियों के शोरूम .घरेलु और ऑफिस फर्नीचर . किचन का सामान बेचने वाली दुकानों मैं अजनबियो का आखिर टाइम 1 मुहर्रम 1440 हिजरी है .

दूसरा मरहला जिसकी शुरुआत रबी उल अवल 1440  हिजरी से होगा उनमे इलेक्ट्रॉनिक सामान बेचने की दुकाने घड़ियाँ चश्मों की दुकाने शामिल है .

तीसरा मरहला हिजरी साल के पांचवे महीने से शुरू होगा जिनमे मेडिकल सामान बेचने वाले शोवरूम .तमीरती  (मकान बनाने मैं चीज़े इस्तेमाल होने वाली चीज़े)  गाडियों के स्पेयर पार्ट्स , कारपेट और मिठाई बेचने वाली दुकाने शामिल हैं जिनमे काम करने वाले तमाम सुपरवइसर और अकाउंटेंट सऊदी होंगे .

khalid अबा खेल ने कहा है की अब तक वजारत इ मेहनत की जानिब से अब तक मुक़र्रा हदफ़ कामयाबी से हासिल किये गए हैं आगे भी सौडियो को किसी भी काम पर लगाने मैं हुकूमत कोई रियायत नहीं बरतेगी .

वजारत के जानिब से मुक़र्रर किये गए सौदिज़ेशन पर अमल न करने वालो के पर जुर्माने लगाये जायेंगे . हर सऊदी गैर मुल्की पर 20 हज़ार रियल जुरमाना होगा जबकि माना किये हुए काम पर पकडे जाने पर मुल्क से बाहर  भी किया जायेगा

अबा खेल ने और बाते कहते हुए कहा की सऊदी हुकूमत की टीमे हर शहरों  मैं तफ्तीश करती रहती है ताकि इन फैसलों को पुख्ता किया जा सके

जिन कामो मैं गैर मुल्कियो को खिलाफ वर्जी करता हुआ पकड़ा जायेगा जुरमाना उसी हिसाब से लगाया जायेगा और दूसरी पकडे जाने पर जुरमाना डबल करदिया जायेगा

अबा खेल का कहना था  की मुल्क मैं सौदियो को ज्यादा से ज्यादा काम के मौके फराहम करने के लिए कोशिश है जिसके लिए निजी काम करने वालो को चाहिए के हुकूमत के इस फैसले को कामयाब बनाये

Bitnami