बिहार में बवाल: अपनी 21 बेटीयो के साथ रेप, नीतीश कुमार से लेकर पूरी सरकार आयी घेरे में

बिहार के मुजफ्फरपुर जिला बालिका गृह में 21 बच्चियों के साथ रेप की खबर आने के बाद बवाल मच गया है. पीएमसीएच ने शेल्टर होम की 21 बच्चियों के साथ रेप की पुष्टि कर दी है. इससे भी ज्यादा हैरान कर देने वाली बात तब सामने आई जब बच्चियों ने अपने एक साथी की हत्या होने का भी आरोप लगाया. बच्चियों ने बताया कि लड़की की प्रताड़ना के बाद उसकी मौत हो गई, जिसे परिसर में ही दफना दिया गया था. लड़की के आरोप के बाद पुलिस द्वारा बालिका गृह की खुदाई करवाई जा रही है. वहीं दूसरी तरफ इस मामले को लेकर राजनीति भी तेज होती जा रही है. इसकी गूंज सोमवार को संसद में भी सुनाई दी.

एएनआई की खबर के मुताबिक, पुलिस ने बच्ची के शव की तलाश में सोमवार को जेसीबी से बालगृह परिसर की खुदाई करवाई.पुलिस को बच्ची का शव नहीं मिला. जिसके बाद पुलिस ने खुदाई को बंद करवा दिया है. घटनास्थल से पुलिस ने मिट्ठी ली है. जिसको फोरेंसिक जांच के लिए लैब भेजा जाएगा.

 

मुजफ्फरपुर एसएसपी हरप्रीत कौर ने बताया कि इस मामले में 10 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. बहुत जल्द चार्जशीट दाखिल कर दी जाएगी. उन्होंने बताया कि बरामद की गई किसी भी लड़की ने अपनी शिकायत में इस बात का उल्लेख नहीं किया है कि उनको कभी छात्रावास से बाहर ले जाया गया था. उन्होंने कहा कि अभी हम जांच कर रहे हैं. बच्चियां थोड़ी डरी हुई हैं, क्‍योंकि वे छोटी हैं. बालगृह से छुड़ाई गई सभी बच्चियों की मेडिकल जांच हो चुकी है. आधे से ज्यादा के साथ रेप होने की उम्मीद है. एसएसपी ने कहा कि खुदाई के दौरान घटनास्थल से कुछ भी बरामद नहीं हुआ है. हालांकि जांच का दायरा बढ़ाया जा सकता है.

 

आरजेडी ने की सीबीआई जांच की मांग

मुजफ्फरपुर बालगृह रेप केस मामले को लेकर विपक्षी पार्टियों ने सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साधना शुरू कर दिया है. आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने आरोप लगाते हुए कहा कि आश्रय का मालिक सीएम नीतीश कुमार का करीबी है. वह एनजीओ चलाता है. उसने चुनाव में नीतीश कुमार के लिए प्रचार भी किया था. वहीं, दूसरी तरफ सोमवार को संसद की कार्यवाही के दौरान सांसद पप्पू यादव ने इस मामले को लोकसभा में उठाते हुए सीबीआई जांच की मांग की.

Bitnami