तेजस्वी का ऐलान: घबरायिए नही, कोंग्रेस से भी महागठबंधन तोड़ूँगा, बस…

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव ने महागठबंधन में जदयू के शामिल होने की संभावनाओं को खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने जदयू को अपने साथ लिया तो राजद कांग्रेस को छोड़ देगा।

 

मंगलवार को अपने आवास पर पत्रकार वार्ता में तेजस्वी ने कहा, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शक्ति सिंह गोहिल की मौजूदगी में हमसे कहा था कि वह राजद के साथ दीर्घकालीन गठबंधन चाहते हैं। रालोसपा के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा द्वारा राजद में शामिल होने का न्यौता अब तक मंजूर नहीं करने के सवाल पर चुटकी ली कि ना ना करते प्यार होता है।

राज्य में महिलाओं, महादलित, पिछड़ों पर अत्याचार बढ़ने और बिगड़ी कानून व्यवस्था के विरोध में उन्होंने साइकिल मार्च की घोषणा की। यह मार्च कब और कहां होगा यह एक दो दिन में पता चलेगा। तेजस्वी ने कहा कि साइकिल मार्च में महागठबंधन के सभी दल, सपा, बसपा, एनसीपी सभी विपक्षी दलों को शामिल होने का निमंत्रण देते हैं। आरोप लगाया कि एक साल में अपराध दोगुना हो गया है।

 

शराब माफिया और अपराधियों को सरकार का संरक्षण है। शराब का काला कारोबार 10 हजार करोड़ का हो चुका है। बिहार चार साल पहले जहां था, आज भी वहीं खड़ा है। शराबबंदी कानून का पालन करने में फेल सरकार अब शराब नीति बदल रही है।

 

बोर्ड की परीक्षा और शुद्ध परिणाम देने में भी फेल है। विभिन्न मुद्दों राज्य सरकार को कोसते हुए कहा कि मुख्यमंत्री की लोकप्रियता का हाल यह है कि उनकी अपनी पार्टी के नेता केसी त्यागी और संजय सिंह ही उनसे खफा हैं। तेजस्वी ने प्रधानमंत्री पर आरोप लगाया कि उनके कारण जनता हर दिन काला दिवस मनाने को विवश  है।  इस मौके पर राजद के प्रदेश अध्यक्ष डॉ रामचंद्र पूर्वे, राष्ट्रीय महासचिव कमरे आलम, लोकेश चौधरी आदि मौजूद थे।

Bitnami