क़तर के ख़िलाफ़ इन सब देशों ने लिया बड़ा ऐक्शन, हवाई क्षेत्र भी होगा प्रतिबंधित

सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात, बहरीन और मिस्र ने बुधवार को यूनाइटेड नेशन के अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय में अपने संप्रभु हवाई क्षेत्र के बारे में कतर के साथ विवाद प्रस्तुत करने की घोषणा की है.

 

सऊदी प्रेस एजेंसी के बयान में कहा गया है कि इस मामले की फाइल अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन (आईसीएओ) द्वारा विचार की जा रही थी, हालांकि चार राज्यों का मानना है कि आईसीएओ “विवाद पर विचार करने के लिए सक्षम नहीं था.”

 

आपको बता दें की अरब चौकड़ी ने पिछले साल जून में  क़तर के साथ सभी राजनयिक और परिवहन संबंधों को आतंकवादियों के समर्थन और अन्य देशों के मामलों में हस्तक्षेप पर काट दिया था. साथ इन अरब देशों का कहना था की क़तर ईरान का समर्थन कर रहा है.

कतर ने पिछले साल आईसीएओ की बैठक में बहिष्कार उठाया था और दावा किया था कि चार देश अतिव्यापी गारंटी देने वाले अंतरराष्ट्रीय समझौते के उल्लंघन में दोहा के खिलाफ भेदभाव कर रहे है.

आपको बता दें की सऊदी अरब ने अपने दुश्मन देश से बदला लेना के लिए क़तर को एक द्वीप में बदलने की योजना बनाई है. सऊदी मीडिया का कहना है की जल्द से जल्द इस परियोजना पर काम होना शुरू होगा.

Bitnami