भारतीय मजदूर संघ की मांग, श्रमिकों का हो राष्ट्रीयकरण

भारतीय मजदूर संघ का 64 स्थापना दिवस बिहार प्रदेश कार्यालय गर्दनीबाग में मनाया गया। इस अवसर पर राष्ट्रीय मंत्री विनय कुमार सिन्हा, क्षेत्रिय संगठन मंत्री सुरेश सिन्हा, प्रदेश महामंत्री उमा कुमार वाजपेयी, प्रदेश मीडिया प्रभारी आशुतोष कुमार, एवं सभी प्रदेश मंत्री के साथ-साथ संघ के हजारों कार्यकर्त्ता समारोह में उपस्थित थे। कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय मंत्री विनय कुमार सिंहा ने कहा कि भारतीय मजदूर संघ ही एक ऐसा संगठन है जो किसी राजनीतिक दल से जुड़ा हुआ नही है, नही तो भारत के जितने श्रमिक संगठन है।

जो किसी न किसी रूप में किसी राजनीतिक दल से जुड़े हुए हैं। भारतीय मजदूर संगठन राष्ट्रवादी संगठन है जो जन्म से आज तक अपने उदेश्य के पूर्ति के लिए दिन-रात कार्य कर रहा है।संगठन का मुख्य लक्ष्य देश आधोगिकरण श्रमिक का राष्ट्रीयकरण एवं उधोग का श्रमिकीकरण करना है। तो वहीं क्षेत्रिय संगठन मंत्री सुरेश सिन्हा ने कहा कि भारत के जितने भी श्रमिक संगठन है, वो राजनीतिक दलों के फायदे के लिए काम करते हैं। जबकि भारतीय मजदूर संघ राष्ट्रहित, उधोगहित, एवं श्रमिकहित की बात करता है।

महामंत्री उमा कुमार वाजपेयी ने कहा कि आज भारतीय मजदूर संघ भारत का सबसे बड़ा संगठन है। एक सर्वे के अनुसार 1980 में भारतीय मजदूर संघ का द्वितीय स्थान था। जबकि 1989 के सर्वे के अनुसार संघ प्रथम स्थान पर आ गया है। इस अवसर पर समर्पित संघ कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रवादिता एवं श्रमिकों के हित में कार्य करने की शपथ ली।